O slideshow foi denunciado.
Utilizamos seu perfil e dados de atividades no LinkedIn para personalizar e exibir anúncios mais relevantes. Altere suas preferências de anúncios quando desejar.
Topic - Swine Flu | स्वाईन फलू
Novel H1N1 Flu | नया एच 1 एन 1 फलू
By: Mr. Kirankumar Ghanapuram
Consultant - Healthcare Ma...
ववषय सूची
1. संक्षिप्त वर्णन
2. “नया बीमारी”
3. प्रकोप
4. प्रसार
5. लिर्
6. डाक्टर के पास कब जाना चहिये?
7. संभाववत मरीज
8...
1. संक्षिप्त वर्णन
 स्वाईन फलू एक तरि का नया बीमारी िै, जो कक साधारर् सर्दी, खांसी और
बुखार जैसे लिर् र्देता िै, लेककन कभ...
2. “नया बीमारी”
 एक नये प्रकार के रोगार्ु या वायरस के द्वारा फै ल रिा िै।
 सबसे पिले अप्रैल, 2009 में पिचाना गया।
 वायर...
3. प्रकोप
 11 जून 2009 को, वर्लडण िेर्लथ ओरगनाईजेशन (world health organization)
ने यि घोवित ककया गया कक यि वायरस समूचे सं...
4. प्रसार
 एक व्यजक्त से र्दूसरे व्यजक्त को फै ल सकता िै।
 मरीज़ के छ ंकने से, खांसने से, िाथ न धोने से ककसी र्दूसरे व्यज...
5. लिर्
 बुखार,
 खांसी,
 छ ंकना,
 गले में खराश,
 गला र्दुखना,
 नज़ला,
 मसरर्दर्दण,
 थकावट,
 ठंडा लगना
 कमजोरी
 उ...
6. डाक्टर के पास कब जाना चहिये?
 अगर बच्चों में नीचे मलखे िुये कु छ भी
लिर् िो, तो डाक्टर के पास तुरंत जाना
चहिये -
 सां...
7. संभाववत मरीज
 वैसे तो फलू ककसी को िो सकता िै, लेककन कु छ लोगों को अनत गंभीर बीमारी िो
सकता िै। वो लोग िैं -
 बूढ़े लोग...
8. स्वाईन फ्लू से कै से बच सकते िैं?
अभी तक स्वाईन फ्लू के मलये कोई र्दवा
निीं िै। लेककन आप नीचे मलखे िुये बातों
को करके ,...
9. लसीकरर्
 आचधकांश लोगों में इस बीमारी का इलाज, साधारर् सर्दी और बुखार के र्दवा से िो
सकता िै।
 कु छ र्दवा इस वायरस के ...
10. मरीज के कपड़े और बतणन को कै से धोना
चाहिये?
 मरीज के कपड़े और चार्दर इत्याहर्द, को गमण पानी में साबुन के साथ धोना
चाहिय...
kiranghanapuram@gmail.com
Próximos SlideShares
Carregando em…5
×

Swine flu - Hindi

1.237 visualizações

Publicada em

Swine Flu introduction, symptoms, precautions, vaccine and awareness

Publicada em: Saúde

Swine flu - Hindi

  1. 1. Topic - Swine Flu | स्वाईन फलू Novel H1N1 Flu | नया एच 1 एन 1 फलू By: Mr. Kirankumar Ghanapuram Consultant - Healthcare Management kiranghanapuram@gmail.com +91 9011017501 kiranghanapuram@gmail.com
  2. 2. ववषय सूची 1. संक्षिप्त वर्णन 2. “नया बीमारी” 3. प्रकोप 4. प्रसार 5. लिर् 6. डाक्टर के पास कब जाना चहिये? 7. संभाववत मरीज 8. स्वाईन फ्लू से कै से बच सकते िैं? 9. लसीकरर् 10. मरीज के कपड़े और बतणन को कै से धोना चाहिये? kiranghanapuram@gmail.com
  3. 3. 1. संक्षिप्त वर्णन  स्वाईन फलू एक तरि का नया बीमारी िै, जो कक साधारर् सर्दी, खांसी और बुखार जैसे लिर् र्देता िै, लेककन कभी कभार जानलेवा भी िो सकता िै।  वस्तुओं पर ककसी यि वायरस करीब 2 से 8 घंटे तक जजंर्दा रि सकता िै। kiranghanapuram@gmail.com
  4. 4. 2. “नया बीमारी”  एक नये प्रकार के रोगार्ु या वायरस के द्वारा फै ल रिा िै।  सबसे पिले अप्रैल, 2009 में पिचाना गया।  वायरस का जीन में अनेक पररवतणन िैं।  वायरर् के जीन में िमेशा पररवतणन िोते रिता िै।  बडण फलू - मुगी, बत्तख और अन्य पिी में फै लता िै।  एववयन फलू - जंगली चचड़ड़यों में फै लता िै।  स्वाईन फलू - एच 1 एन 1 फलू वायरस (H5N1) - सुअरों में, चचड़ड़यों और मनुष्यों में फै लता िै।  फलू वायरस जानवर, चचड़ड़या और आर्दमी में एक साथ फै ल रिा िै। kiranghanapuram@gmail.com
  5. 5. 3. प्रकोप  11 जून 2009 को, वर्लडण िेर्लथ ओरगनाईजेशन (world health organization) ने यि घोवित ककया गया कक यि वायरस समूचे संसार में मनुष्यों में मिामारी फै ला रिा िै। इसको पेंडेममक (pandemic) किा जाता िै। अभी तक वैज्ञाननक, इसके ववरुद्ध टीका पर काम कर रिे िैं। kiranghanapuram@gmail.com
  6. 6. 4. प्रसार  एक व्यजक्त से र्दूसरे व्यजक्त को फै ल सकता िै।  मरीज़ के छ ंकने से, खांसने से, िाथ न धोने से ककसी र्दूसरे व्यजक्त को फै ल सकता िै  छू ने से फै लता िै।  पोकण या सुअर के मीट के खाने से निीं फै लता िै।  सामान्य नल के पानी पीने से फलू निीं फै लता िै kiranghanapuram@gmail.com
  7. 7. 5. लिर्  बुखार,  खांसी,  छ ंकना,  गले में खराश,  गला र्दुखना,  नज़ला,  मसरर्दर्दण,  थकावट,  ठंडा लगना  कमजोरी  उर्लटी और र्दस्त  गंभीर बीमारी से मौत भी िो सकता िै। kiranghanapuram@gmail.com
  8. 8. 6. डाक्टर के पास कब जाना चहिये?  अगर बच्चों में नीचे मलखे िुये कु छ भी लिर् िो, तो डाक्टर के पास तुरंत जाना चहिये -  सांस लेने में तकलीफ़  नीला पर जाना  पानी कम पीना  बिुत अचधक उर्लटी िोना  बेिोशी छाना  अचधक चचड़चचड़ाना, कक कु छ भी अच्छा न लगना  बिुत तेज बुखार या अत्याचधक खांसी  अगर व्यस्कों में नीचे मलखे िुये कु छ भी लिर् िो, तो डाक्टर के पास तुरंत जाना चहिये -  सांस लेने में तकलीफ़  छाती या पेट में र्दर्दण या भारीपन  अचानक चक्कर आना  बैचेनी और घबरािट  बिुत अचधक उर्लटी िोना kiranghanapuram@gmail.com
  9. 9. 7. संभाववत मरीज  वैसे तो फलू ककसी को िो सकता िै, लेककन कु छ लोगों को अनत गंभीर बीमारी िो सकता िै। वो लोग िैं -  बूढ़े लोगों में,  5 साल से कम उम्र के बच्चों में,  गभणवती महिला में,  कोई भी व्यजक्त को जजसे कोई अन्य गंभीर बीमारी िो, जैसे कक आस्थमा, डायबबटीज़ । kiranghanapuram@gmail.com
  10. 10. 8. स्वाईन फ्लू से कै से बच सकते िैं? अभी तक स्वाईन फ्लू के मलये कोई र्दवा निीं िै। लेककन आप नीचे मलखे िुये बातों को करके , आप अपने और अपने घरवालों को स्वाईन फ्लू से बचा सकते िैं।  छ ंक या खांसी आ रिा िै - अपना नाक और मुंि, को अपने िथेली से ढक लें।  छ ंक या खांसी आ रिा िै - कागज़ के हटश्शू का इस्तेमाल करें। शटण के बािों से मुंि और नाक ढक सकते िैं।  िमेशा िाथ, साबुन और पानी से, कम से कम 15 से 20 सेकं ड तक धोयें।  अर्लकोिोल युक्त जेल (alcohol based gel) को िाथ साफ करने के मलये इस्तेमाल कर सकते िैं।  र्दूसरे व्यजक्त या वस्तु को छू ने के बार्द, अपना मुंि, आंख और नाक न छु आ करें।  बीमार व्यजक्त से र्दूर रिें।  अगर आपको स्वाईन फ्लू िै, तो आपको घर पर कम से कम 7 हर्दन तक रिना चाहिये।  र्दुकान, मौल, मसनेमा जैसे भीड़-भाड़ वाले जगि में न जायें।  स्वास््य ववभाग से सूचना या कमणचारी के ननर्देश पर ध्यान र्दें। kiranghanapuram@gmail.com
  11. 11. 9. लसीकरर्  आचधकांश लोगों में इस बीमारी का इलाज, साधारर् सर्दी और बुखार के र्दवा से िो सकता िै।  कु छ र्दवा इस वायरस के गंभीर बीमारी में हर्दये जाते िैं, जैसे कक ज़ानाममवीर (Zanamivir) या ओसेर्लटाममवीर (Oseltamivir)। ये र्दवा सभी जगि उपलब्ध निीं िै।  खालील व्यक्तींनी स्वाईन फलू ची लस नक्की टोचून घ्यावी,  ६ महिने ते ५ विाणपयंत वयाचे मुल  ५० ते ६० विाणवरील व्यक्ती  गरोर्दर स्री  मधुमेि आणर् हृर्दय रुग्र्  आरोग्य सेवेतील कमणचारी व स्वयंसेवक kiranghanapuram@gmail.com
  12. 12. 10. मरीज के कपड़े और बतणन को कै से धोना चाहिये?  मरीज के कपड़े और चार्दर इत्याहर्द, को गमण पानी में साबुन के साथ धोना चाहिये। उनके कपड़ों को, धोने से पिले, अन्य लोगों के कपड़े से अलग रखना चहिये।  खाने के बतणन को अलग से साबुन-पानी से अच्छे तरि से धोना चाहिये।  साफ करनेवाले को अपना िाथ तुरंत साबुन-पानी से अच्छे तरि से धोना चाहिये। kiranghanapuram@gmail.com
  13. 13. kiranghanapuram@gmail.com

×