O slideshow foi denunciado.
Utilizamos seu perfil e dados de atividades no LinkedIn para personalizar e exibir anúncios mais relevantes. Altere suas preferências de anúncios quando desejar.
1 | P a g e
कैं सररोधी लेट्रियल या ऐट्रिग्डेट्रलन (Vitamin B-17)
सन् 1950 में मशहूर बायोके ममस्ट डॉ. अनेस्ट ट.. ्े ्स ूनमन...
2 | P a g e
िेना अपराध  ाा। मटटाममन ब.-17 के समाणकन को परेशान मकया िया। यान. लेमियल को बिनाम करने के मलक हर
संभट रयत्न मकय...
3 | P a g e
िनसर. तरि हमार. सभ. सामा्य कोमशकाओंमें रोडेन.ज़ नामक कंूाइम होता है, मूसे सुरिाकंूाइम भ. कहते हैं।
यह रोडेन.ज़...
4 | P a g e
मटमित रहे मक मटटाममन ब.-17 को लेमियल या कममिडेमलन के नाम से भ. ूाना ूाता है। इसके कक इंूेक्शन में 3
ग्राम कममि...
5 | P a g e
ट्रिटाट्रिन्स और एंजाइम्स की ट्रिस्तृत जानकारी
एट्रिगडेट्रलन की गोट्रलयां (B-17/Laetrile/Amygdalin Tablets)
ब....
6 | P a g e
पेनम्येमटन 1250 मम.ग्रा.
पेपेन (यह पप.ता में पाया ूाता है) 150 मम.ग्रा.
ब्रोम.लेन (यह अन्नास में पाया ूाता है)...
7 | P a g e
मटटाममन स. कक शमक्तशाल. कंट.ऑक्स.डेंट है, रिातंत्र को मूबनत बनाता है और शर.र का शोध न करता है।
कमस्ििाइड मटटाम...
8 | P a g e
आहार ट्रनदेश
रोि. को ूैमटक और शाकाहार. आहार िेना चामहये। मांस, मछल., मुिाण, अंडा, मक्ोन और िनध  से परहेू रोना
...
9 | P a g e
http://www.b17source.com/index.html
http://www.amazon.com/
Próximos SlideShares
Carregando em…5
×

Apricot - Richest source of Anti-cancer Vitamin B-17

918 visualizações

Publicada em

अनेक वर्षों तक शोध करने के बाद सेन फ्रांसिस्को के विख्यात जीव रसायन विशेषज्ञ डॉ. अर्नेस्ट टी. क्रेब्स जूनियर ने 1950 में एक कैंसर रोधी विटामिन की खोज की जिसे उन्होंने विटामिन बी-17 या लेट्रियल या एमिग्डेलिन नाम दिया। यह उन्होंने खुबानी के बीज से विकसित किया। क्रेब्स ने वर्षों तक कैंसर के रोगियों का उपचार विटामिन बी-17 से किया और आश्चर्यजनक परिणाम प्राप्त किये। क्रेब्स ने पाया कि विटामिन बी-17 कैंसर कोशिकाओं के लिए अत्यंत घातक होता है, लेकिन यह सामान्य कोशिकाओं के लिए पूर्णतया सुरक्षित है।

विटामिन बी-17 के अन्य स्रोत -
विटामिन बी-17 या लेट्रियल प्राकृतिक, पानी में घुलनशील पदार्थ है जो सभी जगह पाये जाने वाले लगभग 1200 पौधों के बीजों में पाया जाता है। इसके सबसे बड़े स्रोत खुबानी, आड़ू, आलू बुखारा, बादाम, सेब के बीज हैं। इनके अलावा ये नाशपाती, चेरी, बाजरा, काबुली चना, अंकुरित मूंग, अंकुरित मसूर, काजू, स्ट्रॉबेरी, रसबेरी, जामुन, अखरोट, चिया, तिल, अलसी, ओट, कूटू, भूरे चावल, रतालू, गैंहू के जवारे आदि में भी पाया जाता है।

विटामिन बी-17 कैंसर कोशिका के लिए खतरनाक विषः-
विटामिन बी-17 लगभग सभी अंगों जैसे फेफड़े, स्तन, ऑत, प्रोस्टेट के कैंसर और लिम्फोमा आदि के उपचार में सहायक है। विटामिन बी-17 में ग्लूकोज़ के दो अणु, एक सायनाइड रेडिकल और एक बेन्जेल्डिहाइड आपस में मजबूती से जुड़े रहते हैं या हम यूं समझें कि ये तीनों एक ताले में बंद रहते हैं। हम जानते हैं कि सायनाइड अत्यंत खतरनाक विष होता है। लेकिन विटामिन बी-17 में सायनाइ, बेन्जेल्डिहाइड और ग्लूकोज के साथ मजबूती से जुड़ा होने के कारण यह हमारे शरीर के लिए पूर्णतया सुरक्षित है। बीटा ग्लूकोसाइडेज़ एंजाइम जो सिर्फ और सिर्फ कैंसर कोशिकाओं में ही होता है, जिसे कुंजी एंजाइम कहते हैं, जो विटामिन बी-17 का ताला ख

Publicada em: Saúde e medicina
  • Seja o primeiro a comentar

Apricot - Richest source of Anti-cancer Vitamin B-17

  1. 1. 1 | P a g e कैं सररोधी लेट्रियल या ऐट्रिग्डेट्रलन (Vitamin B-17) सन् 1950 में मशहूर बायोके ममस्ट डॉ. अनेस्ट ट.. ्े ्स ूनमनयर ने कक नये मटटाममन क ोोू क मूसे न्हनने ोुबान. के ब.ून से मटकमसत मकया। इसे न्हनने मटटाममन ब.-17 या लेमियल नाम मिया। ्े ्स ने िेोा मक मटटाममन ब.-17 कैं सर कोमशकाओंके मलक अत्यंत घातक होता है, ूबमक यह सामा्य कोमशकाओंके मलकपनर्णतया सुरमित है। ्े ्स ने मटटाममन ब.-17 से कैं सर के रोमियन का नपचार करने शुरू कर मिया। और इस नपचार से न्हें आश्चयणूनक पररर्ाम ममलने लिे। यह िेो कर पनरा मटश्व स्त्ध ाा। डॉ. अनेस्ट क ोोू के बाि लोिन को लिने लिा मक अब कैं सर लाइलाू ब.मार. नहीं रह. है। कैं सर के रोि. इस नपचार से ठ.क होने लिे ाे। मिर क्या ाा, कई िेशन के मचमकत्सक और कैं सर टैज्ञामनक ब.-17 पर शोध करने में ूुट िये। कोमशका रसायनमटभाि, नेशनल कैं सर इम्स्टट्यनट, यन.कस.क. के भनतपनटण मटभािाध्यि और सहसंस्ाापक डॉ. ड.न बकण भ. लेमियल पर अनुसंध ान कर रहे ाे और न्हें आश्चयणूनक पररर्ाम ममल रहे ाे। न्हनने अपने शोध पत्रन में मलोा मकया है, ‘ूब हमने कैं सर कोमशकाओं के घोल में लेमियल ममलाया और सनक्ष्मिशी यंत्र से िेोा तो पाया मक कैं सर कोमशकाऐंममक्ोयन क तरह मर रह. हैं। ठ.क नस. तरह ूैसे क ट नाशक स्रे से मक्ो. ट मच्छर मरते हैं। क्या दृश्य था??? जिसकी एक झलक ने मुझे पल भर में World WITHOUT CANCER के करोड़ों स्वप्न जिखला जिये।’कैं सर कोमशकाओं में कंूाइम ब.टा-ग्लनकोसाइडेू होता ह. है ूो लेमियल का मटभाून कर सायनाइड और बे्ूेमडडहाइड को मुक्त कर िेता है, ूो िोनन कैं सर कोमशका का सिाया कर िेते हैं। डॉ. अनेस्ट क ोोू हर बार सच सामबत हो रह. ा.। सभ. िेशन के मचमकत्सकन और टैज्ञामनकन को लेमियल पर अनुसंध ान में अच्छे पररर्ाम ममल रहे ाे। रयोि सिल हो रहे ाे और लोि इस सरल, सस्ते और सुरमित नपचार को अपना रहे ाे। इससे कैं सर व्यटसाय, ूो 200 मबमलयन डालर का है, से ूुड. कैं सर िटाइयां और मटमकरर् नपकरर् बनाने टाल. बहुराष्ट्ि.य कं पमनयन क नींि हराम हो रह. ा.। ये िन ड क्ड ड्रि कडमममनस्िेशन, अमेर.कन मेड.कल कसोमसकशन और नेशनल कैं सर इमस्टट्यनट आमि अमेर.क संस्ााओंके नच्चामध काररयन को मोट. ररश्वत या कं पन. में आमाणक महस्सेिार. िेते हैं, ननके अनेकन काम करते हैं और ननके पररटारूनन को ऊं चे टेतन पर नौकररयां िेते है, तामक बिले में ननसे ूो चाहे करटा सकें और हमेशा अपन. अंिुमलयन पर नचा सकें । बस ननके इशारन पर अमेर.का क संस्ााकं मटटाममन ब.-17 द्वारा कैं सर रोमियन के नपचार पर रमतबंध लिाने के मलक हर संभट रयत्न करने में ूुट िई। िल.ल ि. िई मक लेमियल में हाइड्रोून सायनाइड (HCN)नामक ोतरनाक ूहर होता है। इ्हनने ट..ट.., रेमडयो, अोबारन आमि सभ. में लेमियल के मटरूद्ध मटज्ञापन िेने का मसलमसला शुरू कर मिया, झनठे पचे बंटटाक, मचमकत्सकन को ररश्वत िेकर लेमियल के मटरूद्ध शोध पत्र बनटाक और बंटटाक। लेमियल से संबंमध त मकस. भ. सामग्र. के हैडा ूरनडस में रकाशन पर रोक लिा ि. िई। मकस. भ. समारोह मेंलेमियल पर व्याख्यान
  2. 2. 2 | P a g e िेना अपराध ाा। मटटाममन ब.-17 के समाणकन को परेशान मकया िया। यान. लेमियल को बिनाम करने के मलक हर संभट रयत्न मकये। मूतन. मटटािास्पि घटनाकं और पंिे मटटाममन ब.-17 के मामले में हुक नतने शायि मचमकत्सा ूित के पनरे इमतहास में नहीं हुक। कक बार अोबारन में झनठ. ोबर छपटा ि. िई मक ोुबान. ोाने से कक िम्पमि क मौत हो िई है। रातन रात अमेर.का के मडपाटणमेंटल स्टोसण से ोुबान. क ाैमलयां कचरे में िैं क ि. िई, अमेर.का में ोुबान. के सारे पेड कटटा मिये िये और आनन िानन मे कि.ड..क. ने मटटाममन ब.-17 द्वारा कैं सर के नपचार और इस पर मकस. भ. तरह क शोध करने पर भ. रमतबंध लिा मिया। लेमकन मेमक्सको, ूमणन., आस्िेमलया, रुस आमि िेशन में डॉक्टर मटटाममन ब.-17 द्वारा कैं सर का नपचार करते रहे। और अमेर.का टहां हो रह. शोध पर िुपचुप नज़र रोे हुक है। अमेर.का के लोि िनसरे िेशन में ूाकर ब.-17 द्वारा कैं सर का नपचार करटाते रहे। लेमियल द्वारा नपचार लेने टालन में डॉक्टर ट ननके पररटार ूनन क संख्या भ. कम नहीं ा.। ूब भ. कि.ड..क. को मालनम पडता मक कोई डॉक्टर मटटाममन ब.-17 द्वारा कैं सर का नपचार कर रहा है तो कि.ड..क.नसे रतामडत करत. या मुकिमा चलात.। कक बार सन् 1974 के आरंभ में के ल.िोमनणया मेड.कल बोडण ने डॉ. स्ट.टडण कम.ूो्स, कम.ड.. पर आरोप लिाया मक नसने मटटाममन ब.-17 द्वारा कैं सर के रोमियन का नपचार मकया है। मेड.कल बोडण ने डॉ. ूो्स पर मुकिमा ठोक मिया। बोडण के कक सिस्य डॉ. ज्यनमलयस लेमटन ाे ूो स्टयं भ. मटटाममन ब.-17 द्वारा अपने कैं सर का नपचार कर रहे ाे, राूमनमतक िबाट के कारर् डॉ. ूो्स के पि में ोुल कर बोलने में असमाण ाे, अतः न्हनने अपने पि से इस्त.िा िेना ह. नमचत समझा। डॉ. स्ट.टडण कम. ूो्स को आमोरकार सूा भुितन. ह. पड.। यह सब नस िेश में हुआ ूो मटश्व का सबसे बडा ट मटकमसत लोकतामत्रक िेश है और ूहां का राष्ट्ि.य मच्ह “स्टेचन ऑि मलबटी” है। मेमक्सको के डॉ. अनेस्टो को्िेरास के ऑकमसस ऑि होप, मचमकत्सालय में मपछले 30 सालन में कक लाोसे ज्यािा कैं सर के रोमियन को ठ.क मकया ूा चुका है। लेमकन अभ. तक कक भ. रोि. को सायनाइड पॉइूमनंि नहीं हुई। महान टैज्ञामनक और लेोक ू.. कडटडण मग्रमिन ने अपन. पुस्तक “टडडण मटिानट कैं सर” में अमेर.क संस्ााओं (कि.ड..क., क.कम.क. आमि) और बहुराष्ट्ि.य कं पमनयन के इन सारे टाि मटटािन, झनठ के पुलंिन, लालच. मनसनबन, मघनौन. राून.मत, भ्रष्टाचार, लाल ि ताशाह. और षडयंत्र का ोुल कर टर्णन मकया है। इ्हें पढ़ कर रौंिटे ोडे हो ूायेंिे। क्या सचिुच ट्रिटाट्रिन बी-17 िें फ्री हाइड्रोजन सायनाइड होता है??? ू. मबलकु ल नहीं, मटटाममन ब.-17 ग्लनकोज़ के िो अर्ु, ककसायनाइड रेमडकल (न मक हाइड्रोून सायनाइड) और कक बे्ूेमडडहाइड आपस में मूबनत. से ूुडे रहते हैं या हम यनंसमझें मक ये त.नन कक ताले में बंि रहते हैं। मटटाममन ब.-17 में सायनाइड, बे्ूेमडडहाइड और ग्लनकोू के साा मूबनत. से ूुडा होने के कारर् यह हमारे शर.र के मलक पनर्णतया सुरमित है। इस ताले को तोडने क िमता मसिण ब.टाग्लनकोसाइडेज़ कंूाइम में होत. है ूो मसिण और मसिण कैं सर कोमशका में ह. होता है। इसमलक ूब मटटाममन ब.-17 कैं सर कोमशका में रटेश करता है, ूहााँ पहले से ह. मौूनि ब.टाग्लनकोसाइडेज़ कंूाइम मटटाममन ब.-17 का ताला ोोल कर नसे ग्लनकोू के िो अर्ु, हाइड्रोून सायनाइड (HCN) और बे्ूेमडडहाइड में मटभामूत कर िेता है। मटटाममन ब.-17 के अर्ु से मुक्त होकर हाइड्रोून सायनाइड और बे्ूेमडडहाइड ममल कर कैं सर कोमशकाओं को नष्ट कर िेतेहैं। यह म्या कैं सर कोमशका के अंिर होत. है। टो कहते हैं ना मक ूहर को ूहर ह.काटता है।
  3. 3. 3 | P a g e िनसर. तरि हमार. सभ. सामा्य कोमशकाओंमें रोडेन.ज़ नामक कंूाइम होता है, मूसे सुरिाकंूाइम भ. कहते हैं। यह रोडेन.ज़ मुक्त सायनाइड को तुरंत मनमष्ट््य करने क िमता रोता है। सायनाइड रेड.कल तो मटटाममन ब.-12 में भ. होता है ूो हमारे शर.र में ोनन बनाने के मलक बहुत ूरूर. मटटाममन है। बािाम, स्िॉबेर., ्लेकबेर. और ्ल.बेर. में भ. मटटाममन ब.-17 होता है। इनको ोाने सो क्या हम मर ूाते हैं? कैं सररोधी िेटाबोट्रलक थैरेपी कैं सर के इस महान नपचार को हम त.न भािन में बांट करते हैं। 1- मटटामम्स और कंूाइम्स 2- मटटाममन ब.-17 3- आहार ट्रिटाट्रिन्स और एंजाइम्स डॉ. मिमलप मबंूेल के अनुसार मटटामम्स और ोमनू के मबना लेमियल ठ.क तरह से कायण नहीं कर पाता है। इसमलक टे अपने रोमियन को शुरू के डेढ़ िो सप्ताह मसिण स्टस्ा आहार, मटटामम्स, कंूाइम और ोमनू ह. िेते ाे। और नसके बाि ह. मटटाममन ब.-17 के इंूेक्शन या िोमलयां शुरू करते ाे। निाहरर् के तौर पर मूंक मटटाममन ब.- 17 के पररटहन के मलक ूरूर. व्यटस्ाा करता है और मूंक के मबना मटटाममन ब.-17 कैं सर कोमशकाओंतक नहीं पहुाँच पायेिा। डॉ. कॉ्िेरास के अनुसार रोि. को मनम्न मटटामम्स, कंूाइम्स और समललमेंट िेना चामहये। 1- मडट.पल मटटाममन – कक रोूाना (1-0-0) 2- कस्टर मटटाममन-स. 1 ग्राम – 1 सुबह शाम (1-0-1) 3- मटटाममन ई 400 यनमनट 1 सुबह शाम (1-0-1) 4- मेिाूाइम िोटण – 2 िोल. मिन में त.न बार (2-2-2) ोाने के िो घंटे बाि (2-2-2) 5- मरटेन-स.क (PREVEN-CA) कक के लसनल मिन में त.न बार भोून के साा (1-1-1) 6- कमक्टट हेग्ूोस कोररलेटेड कम्पानंड (AHCC) - इसके 2के लसनल मिन में त.न बार ोाने के साा लेना चामहये।(2-2-2) 7- पेनिेममक कमसड (मटटाममन ब.-15) 100 मम.ग्रा. - 1 के लसनल मिन में त.न बार (1-1-1) 8- रो-क-मडशन (25000 I.U. मटटाममन क रमत बनाँि) - पहले िे ू में 5 बनाँि मिन में त.न बार पान. या ज्यनस के सााि. ूात. है। 9- शाकण कामटणलेू – 3 के लयनल मिन में त.न बार भोून के साा (3-3-3) 10- बाले ग्र.न या व्ह.ट ग्रास ज्यनस समललमेंट – कक चाय क चम्मच मिन में त.न बार एट्रनगडेट्रलन या लेट्रियल उपचार फे ज 1 इंिािीनस(PHASE I INTRAVENOUS)– तीन सप्ताह
  4. 4. 4 | P a g e मटमित रहे मक मटटाममन ब.-17 को लेमियल या कममिडेमलन के नाम से भ. ूाना ूाता है। इसके कक इंूेक्शन में 3 ग्राम कममिडेमलन होता है और ये 10 कम.कल. क टायल में ममलते हैं। कममिडेमलन क िैमनक मात्रा रोू 2 टायडस अााणत 6 ग्राम है। ये इंूेक्शन मशरा में लिाये ूाते हैं। इसमें सेलाइन या ग्लनकोू ममला कर पतला करने क कोई ूरूरत नहीं है। इंूेक्शन को स.ररंू में भर कर कक से िो ममनट में मशरा में ध .रे ध .रे रटामहत कर मिया ूाता है। मूस मिन रोि. को इंूेक्शन मिया ूाये नस मिन नसे मटटाममन क नहीं िेना चामहये, क्यनमक यह भ. मटटाममन ब.- 17 के चयापचय में व्यटध ान पैिा करता है। फे ज 1 ओरल(PHASE I ORAL) – तीन सप्ताह यमि इंूेक्शन नहीं ममल पायें तो इंूेक्शन के बिले आप कममिडेमलन क िोमलयां भ. िे सकते हैं। रोू 500 मम.ग्रा. क िो िोल. हर ोाने के साा ि. ूात. है अााणत रोू कु ल 6 िोमलयां ू. ूात. है। फे ज 2(PHASE 2) – तीन िहीने िे ू 2 में 500 मम.ग्रा. क कक िोल. हर ोाने के साा और 1 िोल. रोत को सोते समय ि. ूात. है। अााणत रोू 4 िेमलया ि. ूात. हैं। इस िे ू में भ. सारे मटटामम्स और कंूाइम्स भ. िे ू 1 क तरह ह. िेते रहने है। बस िनसरे िे ू में रो-क-मडशन (25000 I.U. मटटाममन क रमत बनाँि) क मात्रा बढ़ा कर 10 बनाँि कर ि. ूात. है। प्रारंट्रिक उपचार बाद का ट्रनयंत्रण डॉ. ्े ब के अनुसार लिभि 300 ग्राम से ज्यािा लेमियल िेने पर कैं सर काबन में आ ूाता है। त.न सप्ताह में बहुत िायिा मिो ूाता है। पनरा असर आने में लिभि 4 मह.ने लि ूाते हैं। इसके बाि भ. मस्ामत को मनयंत्रर् में रोने के मलक 1 ग्राम लेमियल रोू मिया ूाता है। लेमकन रोि. को मचमकत्सक क मनिरान. में रहना बबहुत आटश्यक है। मचमकत्सक अपने मटटेक से आपको परामशण िेता रहेिा और नपचार िेता रहेिा। डाइट्रिथाइल सल्फोक्साइड (DMSO) यह कािू और लकड. नद्योि का नपोत्पाि है, मूसे इन मिनन हरप.ू, कैं सर और अ्य रोिन में रयोि में मलया ूा रहा है। यह ू.मटत ऊतक में िहराई तक ूाकर कोमशक य चयापचय को नत्रेररत करता है। डॉ. मोटणन टाकर के अनुसार ड..कम.कस.ओ. नपचारक है, रिाहरोध . है, ििण मनटारक है, ू.टार्ु और िं िसरोध . है, रक्त-संचार बढ़ाता है, फ्र रेड.लडस को मनमष्ट््य करता है, रिातंत्र को नत्सामहत करता है और घाट ूडि. भरता है। इसका रयोि घाट, शार.ररक चोट, ििण, क डे काटने से लेकर आााणइमटस और कैं सर में मकया ूाता है। मटटाममन ब. 17 के साा यह सोलटेंट क तरह कायण करता है, रक्त/ममस्तष्ट्क मािण (blood/brain barrier) को पार करने क िमता रोता है और सुिमता से मटटाममन ब. 17 को िहराई तक पहुाँचाता है और नसक नपयोमिता बढ़ाता है। ल.टर और मकडन. को छोड कर मचमकत्सक इसे सभ. तरह के कैं सर में नपयोि करना पसंि करते हैं। मचमकत्सक रायः मटटाममन ब. 17 क कक टायल (3 ग्राम) में 3-5 कम.कल. ड..कम.कस.ओ. ममला कर लिाते हैं।
  5. 5. 5 | P a g e ट्रिटाट्रिन्स और एंजाइम्स की ट्रिस्तृत जानकारी एट्रिगडेट्रलन की गोट्रलयां (B-17/Laetrile/Amygdalin Tablets) ब.-17 या लेमियल या कममिडेमलन क िोमलयााँ – ये ोुबान. के ब.ून से तैयार क ूात. है। सिे ि रंि क ये िोमलयााँ 100 मम.ग्रा. और 500 मम.ग्रा. क स्िेंा में नपल्ध हो ूात. हैं। डॉ. कॉ्िेरास कैं सर से बचाट के मलक 100 मम.ग्रा. क 2-4 िोमलयां रमत मिन और नपचार के मलक 500 मम.ग्रा. क 4-6 िोमलयां लेने क सलाह िेते हैं। डॉ. कॉ्िेरास ने कहा है मक यमि इंूेक्शन नपल्ध नहीं हो पाये तो नसक ूिह मटटाममन ब.-17 क 500 मम.ग्रा. क िो िो िोल. मिन में त.न बार (कु ल 6 िोल.) लेन. चामहये। यमि िोल. मनिलने में मिक्कत हो तो नसे तोड कर ोाने क मकस. च.ू में ममला कर ले सकते हैं। अिर िोल. से ू. घबराये तो 1 िोल. 6 बार ि. ूा सकत. है। यमि मिर भ. ममचल. आये तो आध . िोल. पर घंटे ि. ूा सकत. है। िोल. लेने के पहले कु छ ोा लेना भ. ठ.क रहता है। ट्रिटाट्रिन बी-15 (Pangamic Acid) सन् 1951 में डॉ. अनेस्ट ट.. ्े ्स ूनमनयर और ननके मपता ने ोुबान. के ब.ू से ह. मटटाममन ब.-15 या पेनिेममक कमसड क भ. ोोू क ा.। इसे ‘त्टररत ऑक्स.ून’ भ. कहतेहैं। मटटाममन ब.-15 म.मायोन.न नामक कमाइनन कमसड के मनमाणर् में मिि करता है। यह ककनत्कृ ष्ट क्ट.-ऑक्स.डेंट भ. हैं। यह ग्लनकोज़ के ऑक्स.करर् में मिि करता है औरकोमशकाओंको भरपनर शमक्त और लंब. नम्र िेता है। यह यकृ त का शोध न करता है, कॉलेस्िोल कम करता है, रमतरिा रर्ाल. मूबनत करता है और अंतः स्राट. ग्रंमातंत्र ट स्नायु तंत्र को मनयंमत्रत रोता है। यह भ. मटटािास्पि मटटाममन रहा है। अमेर.का में सन् 1970 तक मटटाममन ब.-15 ब.-कोम्ललेक्स ग्रुप में शाममल ाा, पर बािमें इस पर रमतबंध लिा मिया िया। रूस में इस पर बहुत शोध हुआ है। पेनिेममक कमसड मांस पेमशयन में लेमक्टक कमसड का संचय कम करता है, मांस पेमशयन क ाकाटट कम करता है और इनक कायण िमता बढ़ाता है। इसमलक रुस ओलंमपक्स में अपने मोलामडयन कोभरपनर मटटाममन ब.-15 मोलाते ाे। मटटाममन ब.-15 ोुबान. मतल ट कद्दन के ब.ू, भनरे चाटल आमि में भ. पाया ूाता है। मटटाममन ब.-15 का रयोि अहडकोमलज्म, ड्रि कमडक्शन, ब्रेन डेमेू, श.ज़ोफ्रे मनया, हृिय रोि, नच्च रक्तचाप, मध ुमेह, यकृ त रोि, अस्ामा, िमठया, त्टचा रोि, ाकान आमि ब.माररयन में मकया ूाता है। यह अच्छा स्टास््यटध णक ट आयुटध णक है। पेनट्रियेट्रटक एंजाइम्स (िेगाजाइि फोटट) – मेिाूाइम िोटण में मिपमसन और काइमोमिपमसन सबसे महत्टपनर्ण कंूाइम्स हैं। इसक 3 िोल. मिन में त.न बार (3- 3-3) ोाना ोाने के िो घंटे बाि ि. ूात. है। इसमें ब्रोममलेन को भ. शाममल मकया िया है। मटमित रहे मक कैं सर कोमशका पर कक रोट.न का ोोल चढ़ा रहता है। ब्रोममलेन रोट.न को पचाने में मामहर है और कैं सर कोमशका पर चढ़े रोट.न के ोोल को पचा कर अलि कर िेता है। साा ह. रोि. को पप.ता और अन्नास (अन्नास में ब्रोम.लेन पाया ूाता है) ोनब ोाना चामहये। डॉ. अनेस्ट ्े ब, डॉ. मिमलप मबंूेल ने अनुसार कंूाइम्स क िोमलयां प.कच सेंसेमटट और कंटेररक कोटेड होन. चामहये। मेिाूाइम िोटण मनम्न तत्टन को ममला कर बनाया ूाता है।
  6. 6. 6 | P a g e पेनम्येमटन 1250 मम.ग्रा. पेपेन (यह पप.ता में पाया ूाता है) 150 मम.ग्रा. ब्रोम.लेन (यह अन्नास में पाया ूाता है) 150 मम.ग्रा. मिपमसन 125 मम.ग्रा. कमाइलेू 50 मम.ग्रा. क-काइमोमिपमसन 45 मम.ग्रा. रूमटन 100 मम.ग्रा. रॉ काि ााइमस कं संिेट 55 मम.ग्रा. मूंक ग्लनकोनेट 10 मम.ग्रा. सुपर ऑक्साइड मडसम्यनटेू 50 मम.ग्रा. के टेलेू 200 यनमनट कल-ग्लनटााायोन 10 मम.ग्रा. शाकट काट्रटटलेज (Shark Cartilage) माना ूाता है मक पनर. िुमनया में शाकण सबसे स्टस्ा ू.ट है। इसका रिातंत्र इतना मूबनत होता है मक मनुष्ट्य को होने टाल. कोई ब.मार. इसे अभ. तक छन नहीं पाई है। टैज्ञामनक मानते हैं मक शाकण का कं काल, ूो मसिण ूो मसिण कामटणलेू से बना होता है, ह. इसक रिारर्ाल. को इतन. सुदृढ़ता रिान करता है। और इसे िटा के रूप में रयोि मकया ूाता है। डॉ. कॉ्िेरास के अनुसार शाकण का कामटणलेू कैं सर क िांठन में रक्तटामहकाओंके मटकास को बामध त करता है। यह कंट.बॉड.ू बनाता है और शर.र के रिातंत्र को मूबनत बनाता है। इसके नपचार से 1-3 मह.ने में कैं सर क िांठे छोट. होने लित. हैं। साा ह. यह मटटाममन ब.-17 के असर को भ. बढ़ाता है। खुबानी के बीज (Apricot Seeds/Kernels) कडट. ोुबान. के ब.ू मटटाममन ब.-17 का अच्छा, राकृ मतक और सस्ता स्त्रोत है। इसके रयोि से हमें मटटाममन ब.-17 के साा अ्य मटटाममन, ोमनू और कंूाइम्स भ. ममल ूाते हैं, ूो संशोमध त क िई ब.-17 क िोमलयन से राप्त नहीं हो पाते हैं। डॉ. ्े ब के अनुसार कैं सर से बचाट के मलक रोूाना ोुबान. के 10 ब.ू और कैं सर के रोि. को रोू 30-35 ब.ू ोाने चामहये। ध्यान रहे ब.ून में ाोडा कडटापन होना ूरूर. है। कडटापन नहीं है तो यह काम नहीं करेि.। इन ब.ून को िरिरा कन ट कर काम में लेना चामहये। इनके रयोि से कई बार रोि. का ू. ममचलाता है। ऐस. मस्ामत में कु छ मिनन के मलक ब.ून क मात्रा कम कर िेन. चामहये और मिर ध .रे ध .रे बढ़ाना चामहये। एट्रस्िफाइड ट्रिटाट्रिन सी (Vitamin C Esterfied)
  7. 7. 7 | P a g e मटटाममन स. कक शमक्तशाल. कंट.ऑक्स.डेंट है, रिातंत्र को मूबनत बनाता है और शर.र का शोध न करता है। कमस्ििाइड मटटाममन स. क अननठ. बिडण मकस्म है, मूसमें कु छ टायेफ्लेटानॉयड्,, कमसरोला, रोूमहप और रूमटन ममलाये ूाते हैं। इसका प.कच ्यनिल होता है मूससे यह आमाशय को निेमूत नहीं करता है। एट्रक्टि हेग्जोस कोररलेटेड कम्पाउंड Active Hexose Correlated Compound (AHCC) यह कई तरह के मशरूम्स को हाइमब्रड करके तैयार मकया ूाता है। इसमें कु छ राकृ मतक तत्ट ूैसे ऑमलिोसेकराइड्स, कमक्टटेटेड हेम.सेडयुलोू, अमाइनो कमसड्स और ग्लाइकोरोट.्स होते हैं। ये सब तत्ट रिातंत्र को मूबनत करते हैं। इसके 2 के लसनल मिन में त.न बार ोाने के साा लेना चामहये। ट्रिटाट्रिन ई (d-alpha tocopheryl acetate) मटटाममन ई कक शमक्तशाल. कंट.ऑक्स.डेंट है और कोमशका मभमि और अ्य (टसा में घुलनश.ल) ऊतकन क रिा करता है। यह मटटाममन स. क िमता बढ़ाता है और कोमशकाओंमें ऑक्स.ून का स्तर बढ़ाता है। ट्रप्रिेन-सीए - एंटीऑक्सीडेंट फोरिूला (PREVEN-CA Antioxidant Formula) – कक राकृ मतक नत्पाि है मूसे ओकमसस ऑि होप, मेमक्सको के डॉक्टसण ने तैयार मकया है। इसमें कई महत्टपनर्ण ट शमक्तशाल. कंट.ऑक्स.डेंट और पोषक तत्टन का समाटेश मकया िया है। अमेररका, मेमक्सको और ूापान में कैं सर के रोि. इसका रयोि कर रहे हैं। इसमें शाकण कामटणलेू और कई ूड.-बनमटयां भ. ममलाई िई है, मूनसे हमें मटमभ्न अमाइनो कमसड्स ममल ूाते हैं। इसका कक के लसनल मिन में त.न बार ोाने के साा मलया ूाता है। मरटेन-स.क (PREVEN-CA) मनम्न तत्ट ममला कर तैयार मकया ूाता है। काडटस िेररयानस (CardusMarianus) मूसे ममडक मिसल भ. कहते हैं। यह हामनकारक टॉमक्स्स से ल.टर क कोमशकाओं क रिा करता है और टॉमक्स्स के नत्सूणन में मिि भ. करता है। अ्य बॉयोफ्लेमटनॉयड्स क तरह यह भ. कक कंटॉक्स.डेंट है और ल.टर में कोमशकाओंका मनमाणर् करता है। इसके कोई साइड इिे क्ट भ. नहीं हैं। ग्रेप सीड एक्सिेक्ट में रोकंाोसायमनमडन नाम का कंट.ऑक्स.डेंट होता है ूो रक्त टामहकाओं, मांस पेमशयन और कनेमक्टट मटश्यन में कॉलेून और कलामस्टन नाम के रोट.्स का रोरोाट करता है और न्हें स्टस्ा रोता है। गाजर की जड़ – भ. कंट.ऑक्स.डेंट है और रिातंत्र को मूबनत करत. है। ट्रिटाट्रिन ए – (20,000 यनमनट), मटटाममन ब.-1, ब.-3, ब.-5, मटटाममन-स., मटटाममन-ई और मटटाममन-के । खट्रनज – सोमडयम, कै मडशयम, पोटेमशयम, मेग्न.मशयम, मूंक, आयरन, मेंिन.ू और कॉपर। लहसुन – में कैं सररोध . िुर् होते हैं। अल्फा अल्फा - इसमें भरपनर रोट.न, मटटाममन क, के , िोसिोरस, कै मडशयम, मूंक, आयरन, मेग्न.मशयम, मेंिन.ू और कॉपर होते हैं। बोल्डो - इसमें बोडड.न होता है ूो मपि टामहकाओंको रोत्सामहत करत. है, मनत्रटध णक है और रिातंत्र को मूबनत करता है।
  8. 8. 8 | P a g e आहार ट्रनदेश रोि. को ूैमटक और शाकाहार. आहार िेना चामहये। मांस, मछल., मुिाण, अंडा, मक्ोन और िनध से परहेू रोना ूरूर. है। ाोडा बहुत िनध और मक्ोन मलया ूा सकता है। पन.र को अलस. के तेल में ममला कर मलया ूा सकता है। डॉ. ्े ब के अनुसार कैं सर कोमशका के चारन तरि कक रोट.न का ोोल चढ़ा रहता है। मिपमसन और काइमोमिपमसन इस रोट.न के ोोल को पचाने का काम करते हैं। ये कंूाइम्स पेनम्यास में बनते हैं। कैं सर कोमशका को नष्ट करने के मलक इस ोोल को पचाना बहुत आटश्यक है। यह समझना बहुत ूरूर. है मक मांस, मछल., अंडा और िुग्ध नत्पाि से राप्त रोट.न को पचाने के मलक बहुत सारे मिपमसन और काइमोमिपमसन क आटश्यकता होत. है। ूबमक टनस्पमतक रोट.न को पचाने के मलक बहुत कम कंूाइम्स क ूरूरत होत. है। मांसाहार. रोि. के शर.र में सारे मिपमसन और काइमोमिपमसन रोट.न के पचाने में ह. लिे रहते हैं और कैं सर कोमशका पर बने रोट.न के ोोल को पचाने के मलक कंूाइम्स कम पड ूाते हैं। इसमलक कैं सर के रोि. को कम से कम चार मह.ने के मलक मांसाहार छोड िेना चामहये। तामक रोि. के शर.र में इन कंूाइम्स क कम. नहीं हो पाये। ताूा िल और सम्ूयन में भ. भरपनर कंूाइम्स होते हैं। इसमलक कच्चे िल और सम्ूयन के सेटन का महत्ट कैं सर के रोि. के मलक सटोपरर माना िया है। मटमित रहे मक 1300 F ताप्म पर िल और सम्ूयन के सारे कंूाइम्स नष्ट हो ूाते हैं। इसमलक इ्हें कच्चा ह. ोाना चामहये। ूहां तक संभट हो सम्ूयन का सेटन सलाि के रूप में करें। सलाि ड्रेमसंि में च.न., अंडा या िांस िै ट का रयोि नहीं करें। ड्रेमसंि श.तल मटमध से मनकले तेल से घर पर ह. बनायें। मसाले और ाोडा सैंध ा नमक डाल सकते हैं। च.न. और मेिा से परहेू बहुत ूरूर. है। मममित और साबुत अ्न से बने आटे का रयोि करें। कन टन सबसे अच्छा अ्न है। राकृ मतक शहि काम में मलया ूा सकता है। मरूटेमटट ममले ोाद्य पिााों का सेटन नमचत नहीं है। सभ. सम्ूयन का सेटन करें। हर स्ू. में मुख्तमलि मकस्म के पोषक तत्ट होते हैं। कु छ िलन ूैसे सेब, आड़ू, ोुबान., अंिनर आमि के ब.ून में भ. मटटाममन ब.-17 होता है, इसमलक ननका सेटन भ. करना चामहये। सनोे मेटन का रयोि ोनब करें क्यनमक इनमें शानिार रोट.न होते हैं। बस मनंििल. टमूणत है। िालें, राूमा, चना आमि का रयोि भ. ोनब करें। इनमे भ. रोट.न और मटटामम्स बहुत होते हैं। सॉफ्ट मड्रक, कॉि का रयोि टमूणत है। उपसंहार मपछले त.स टषों से मेमक्सको के ओकमसस ऑि होप हॉस्प.टल में मटटाममन ब. 17 द्वारा कैं सर का सिलतापनटणक नपचार मकया ूा रहा है। लेमकन आप चाहें तो यह नपचार मकस. मचमकत्सक क िेोरेो में ले सकते हैं। इस नपचार में मिये ूाने टाले मटटाममन -17 के इंूेक्शन और िोमलयााँ ताा अ्य मटटामम्स और कंूाइम्स भारत में नपल्ध नहीं हैं। इ्हें मटिेश से मंिटाना पडता है। लेमकन आप न्हें मनम्न टेबसाइट्स से भ. ोर.ि सकते हैं। हम आपको इस नपचार संबंध . सार. ूानकाररयां िे रहे हैं। http://www.thevitaminservice.com/category/529-metabolic-therapy.aspx https://cytopharmaonline.com/xtraproducts.asp
  9. 9. 9 | P a g e http://www.b17source.com/index.html http://www.amazon.com/

×